सर्वश्रेष्ठ 10 फिल्में

हृषिकेश मुखर्जी (1951- 1998)

1940 के दशक के अंत में कलकत्ता के न्यू थियॅटर्स में बी एन सरकार के साथ काम सीखने के बाद ऋषि दा ने बिमल रॉय के साथ दो बीघा ज़मीन और देवदास में भी बतौर एडिटर और सहायक निर्देशक की भूमिका में काम किया । 1957 में उन्होने पहली फिल्म मुसाफिर निर्देशित की, 1959 में अनाडी और तुरंत बाद अनुराधा ने लोगो का ध्यान उनकी ओर खींचा । 2001 में पद्म विभूषण से सम्मानित ऋषि दा की फिल्मों में भी यह तय करना जरा टेढ़ी खीर रहा कि किस फिल्म को टॉप 10 में रख जाये और किस क्रम में उन फिल्मों को संजोया जाये । 

राजेश खन्ना के साथ फिल्म आनंद उनकी सर्वश्रेष्ठ फिल्म कही जा सकती है, हालाकि यहां सम्मिलित हर एक फिल्म अपने आप में नंबर 1 की अधिकारी है इसलिये अगर गोल माल और बावर्ची जैसी फिल्मों के साथ मैने न्याय नही किया है तो मै अपना दोष स्वीकार करता हूं, आशीर्वाद, मिली और सत्यकाम जैसी महान फिल्में इस लिस्ट में नही है यह इससे भी बड़े आश्चर्य की बात है । साफ सुथरी और मनोरंजक पारिवारिक फिल्मों के मामले में ऋषि दा का कोई सानी नही था, इसमें कोई शक नही कि अमिताभ, जया, धर्मेंद्र और राजेश खन्ना ने उनके साथ बेहद खूबसूरत फिल्में दी है । अनुराधा सहित पहली पांच फिल्मों में से किसी को भी नंबर 1 पर रखा जा सकता है ।

आनंद (1971)
अभिमान (1973)
अनुपमा (1966)
अनुराधा (1960)
अनाडी (1959)
चुपके चुपके (1975)
नमकहराम (1973)
गुड्डी (1971)
बाबर्ची (1972)
गोल माल (1979)
क्रमांकफिल्मवर्षमुख्य कलाकार अन्य कलाकार
1आनंद1971राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन, सुमिता सान्याल, जॉनी वॉकर
2अभिमान 1973जया भादुडी अमिताभ बच्चन, डेविड, असरानी, बिंदू, दुर्गा खोटे
3अनुपमा 1966शर्मिला टैगोर धर्मेंद्र, शशि कला, देवेन वर्मा
4अनुराधा1960लीला नायडू बलराज साहनी
5अनाडी 1959राज कपूर नूतन, ललिता पवार
6चुपके चुपके1975धर्मेंद्र अमिताभ बच्चन, शर्मिला टैगोर, जया भादुडी, ओम प्रकाश, असरानी
7नमक हराम 1973अमिताभ बच्चन राजेश खन्ना, रेखा, ए के हंगल
8गुड्डी 1971जया भादुडी  धर्मेंद्र, उत्पल दत्त, समित भांजा
9बाबर्ची 1972राजेश खन्ना जया भादुडी, दुर्गा खोटे, ए के हंगल
10गोल माल1979अमोल पालेकर बिंदिया गोस्वामी, उत्पल दत्त, दीना पाठक

इस श्रंखला के अन्य पृष्ठ दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन,  राज कपूर,  और मीना कुमारी पर तैयार हो चुके हैं - नर्गिस, वहीदा रहमान, राजेश खन्ना, धर्मेंन्द्र-हेमा मालिनी, वैजयंती माला, देवानंद, गुरू दत्त साहब, एवं बिमल रॉय अतिरिक्त शाहरुख खान मधु बाला और माधुरी दीक्षित की फिल्मों का जिक्र भी संभव है ।